एक अच्छी केंद्र सरकार से हम क्या अपेक्षा करते है ?

भाजपा सरकार के ८ महीने के कार्यकाल पर बहुत उंगलिया उठ रही है ..इसलिए मैं भी कुछ कहना चाहता हूँ इस सरकार के बारे में ! ये ८ महीने देश के लिए अच्छे रहे या बुरे जरुर सोचना !!

एक अच्छी केंद्र सरकार से हम क्या अपेक्षा करते है ?

अच्छी सड़के , बिजली , पानी की व्यवस्था , रोजगार , भ्रष्ट्राचार मुक्ति आदि ..परन्तु ये विषय तो राज्य भी निपट सकता है , केंद्र सरकार के लिए महत्वपूर्ण विषय होता है राष्ट्र के सीमा की सुरक्षा !!! राष्ट्र की सुरक्षा से बड़ा कोई विषय नही है ! राष्ट्र है तो हम है !!

आप लोगो को मैं कुछ आंकड़े बताना चाहता हूँ ..विश्व की ४ चौथी बड़ी सैन्य शक्ति भारत है . एक नंबर अमेरिका , दो नंबर रशिया , ३ नंबर चीन ,और चौथे पर भारत !

हमारा सबसे बड़ा शत्रु देश चीन हमसे अधिक सैन्य शक्ति रखता है और हमने बहुत सा भाग चीन से युध्द में गँवा दिया और अभी भी चीन के मन में क्या है , हम सब जानते है .

चीन का रक्षा बजट १८८.० बिलियन डॉलर था और हमारा ४७.४ बिलियन डॉलर अर्थात हमसे ४ गुना अधिक है !!
आप लोग अब समझ रहे होंगे की , चीन रक्षा के मामले में , सेना के मामले में कितना ध्यान रखता है और हमारी सरकार रक्षा के मामले में कितना ध्यान रखती है !
आपको अमेरिका का भी रक्षा बजट बता देते है ६४० बिलियन डॉलर ! अर्थात हमसे १३ गुना कई अधिक !!
हम चाहते है की , हमारा देश विश्वशक्ति बने तो हमारा रक्षा बजट क्या होना चाहिए कमसे कम ६५० बिलियन डॉलर का अर्थात वर्तमान रक्षा बजट से १३- 14 अधिक गुना !! वर्तमान में भारत का रक्षा बजट २०१४-१५ में १३४४१४ ( करोड़ रुपये ) है और इसका 14 गुना करे तो १८,८१,७९८ रक्षा बजट की आवश्यकत है ..जबकि भारत का कुल बजट ही लगभग १७ लाख करोड़ का है ..इसलिए भारत को विश्वशक्ति बनाने के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता है .. और इसके लिए सरकार को जो धन चाहिए , विदेशी मुद्रा चाहिए ..वो कहाँ से आएगा ?
यदि इस देश की जनता को सब चीज फ्री में दे दी तो अधिक रक्षा बजट के लिए पैसा कहांसे आएगा ? और यदि जनता को फ्री की आदत पड गई तो क्या होगा , यह भी सोच लो !!!

मैं आप लोगो को एक और बात बता दूँ ! अपने रक्षा बजट के मामले में भारत ९ वे नंबर पर है ! जापान , जर्मनी , फ़्रांस भी हमसे आगे है !!

अब आप सोचो ऐसी स्थिति में मोदी जी को क्या करना चाहिए ?
देश की सुरक्षा के लिए सेना का बजट बढाना चाहिए या नही ?
यदि हमें आज के समय में शक्तिशाली ,मजबूत या विश्वशक्ति बनना है तो क्या कदम उठाने चाहिए ?
सरकार चलाना आसान काम नही है ..केजरीवाल को जब समझ में आया की हमने जो वादे किये है , उसकी पूर्ति के लिए धन ही नही है तो ४९ दिन में ही कुर्सी छोड़ भाग गया !!

मोदी जी एक प्रशासनिक अनुभवी राजनेता है , उन्हें गुजरात में १५ साल सरकार का अनुभव है …इसलिए उन पर विश्वास करे और सरकार को अपना काम करने दे ..

कालाधन वाली समस्या आप सभी जानते ही है की, अंतर्राष्ट्रीय कानून में बंधा हुआ ऐसा कमजोर देश ( सैन्य शक्ति से ) क्या कर सकेगा ? फिर भी मोदी जी का नेतृत्व देखिये की , अमेरिका भी आज भारत का साथ चाहता है और चीन भी !

देश को धन की जरुरत है फिरभी मोदी जी ने रसोई गैस और पेट्रोल डिझेल के दाम कम कर दिए !! सत्ता में आने के पूर्व पेट्रोल ७१ रूपये था , आज ५६ रुपये है ..यदि यह पेट्रोल सस्ता न किया जाता और महंगा भी नही किया जाता तो क्या जनता बिना गाडी के रह जाती ? वो तो कांग्रेस के काल में भी जैसे तैसे जी ही रही थी ..परन्तु यह सब सस्ता न होता तो देश के मुद्रा भंडार में कितनि अधिक बढ़ोतरी होती ! फिर भी मोदी जी ने सरकार के बारे में नही , जनता के बारे में सोचा और डिझेल पेट्रोल सस्ते कर दिए , इसमें मोदी जी की जनता के प्रति सहृदयता दिखाई नही देती ??

दूसरी बात . देश पर कुछ दैवी आपत्ति आई ..उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में ? उसके लिए धन का अधिक बोझ सरकार पर पड़ा ! उसकी भरपाई सरकार कैसे करे ?

बावजूद मोदी जी ने इन राज्यों को धन की कमी नही रखी ..फिर भी मुल्ले इस बात नही समझ पाए !!

आप सोचो , विदेशी निवेश के रूप में क्या हमारा ही धन (कालाधन) ही हमारे देश में नही आ रहा है ?इसके सिवाय क्या ४९ % विदेशी निवेश होने से रक्षा क्षेत्र में आधुनिक अस्त्रों शस्त्रों की कमी दूर नही हो जायेगी ?
मेक इन इण्डिया से देश में रोजगार नही बढेगा ?

जन धन योजना से भ्रष्ट्राचार ख़त्म होने में मदद नही मिलेगी ?

हम उस व्यक्ति पर शंका कर रहे है जिसे बीमारू राज्य को सौंप दिया था !! १५ साल में गुजरात आज कहाँ पहुंचा है, क्या दिखाई नही दे रहा है ? जिसने साबरमती जैसी नदी को क्या से क्या बना दिया , क्या वह व्यक्ति माँ गंगा के प्रति कुछ संवेदनशील नही होगा ? क्या मोदी जी को प्रशानिक अनुभव नही या मोदी जी भ्रष्ट्र है ? और क्या हम सबके सामने मोदी जी का कोई विकल्प है ? जो राजनीतिक अनुभव के साथ एक ईमानदार व्यक्ति भी हो ! यदि दुराग्रह का चश्मा उतार दे तो उस व्यक्ति के आगे हम सच में नतमस्तक हो जायेंगे , यदि मोदी जी का यह ८ महीने का कार्यकाल देखा जाय !!

हम एक परिवार के ४ व्यक्ति को बराबर प्रसन्न नही रख सकते ! उन्हें तो पुरे देश देश की जनता को प्रसन्न करना है ! कितना कठिन काम है ! और उन पर विश्वास किया है तो धैर्य भी रखिये !! मोदी जी ने ६० महीने मांगे थे , क्या ६० साल से धैर्य रखनेवाले ६० महीने में ही धैर्य खो दिए ?

और जो सरकार ने अब तक देश हित के लिए किया है , क्या वह कम है ?

मुझे लगता है भारत को विश्वशक्ति बनाना है तो हमें भी मोदी जी का साथ देना होगा और विश्वास किया है तो धैर्य रखे ! उनसे अधिक राजनैतिक अनुभव हम लोगो के पास नही है ! जैसे हमें अपने देश की चिंता है , उन्हें भी अपने देश की चिंता है , वे भी एक भारतीय है ! वे कोई बेवकूफ केजरीवाल नही है जो जनता को फ्री में सब कुछ देकर पंगु बनाना चाहते हो और हाथ पर ही सरसों बोने की बात करता हो !! शासन चलाने के लिए अनुभव चाहिए , धरना प्रदर्शन के लिए नही !!

मुझे लगता है यह देश का सुवर्ण अवसर है , जो हमें ऐसा प्रधानमंत्री मिला है !!

कोई लोग उनके सूट जैसे फ़ालतू मुद्दा बना रहे है , क्या देश का प्रधानमंत्री भिखारी जैसा दिखना चाहिए ? और फिर जिस व्यक्ति ने अपनी सारी इच्छाए मार दी हो, क्या वह एक अच्छे कपडे पहनने की एक इच्छा पूर्ति का अधिकारी भी नही ??

इन मुद्दों के पीछे राष्ट्र हित न भूले !! राष्ट्र के विकास में , राष्ट्र को शक्तिशाली बनाने में हम सब मोदी जी कासाथ दें !!आज वे एक व्यक्ति नही, देश के प्रधानमंत्री है , ”हमारे देश के प्रधानमंत्री है” — हमें उनका सम्मान , एक सर्वोच्च पद का सम्मान बनाए रखना होगा !!

कम से कम विश्वास किया है तो ६० महीने तक इन्तजार करे और जो लाभ मिल रहा है उसका आनंद ले !!!माना की मैं भी कुछ मुद्दों से सहमत नही हूँ , फिर भी मैं ६० महीने तक धैर्य रखूँगा !! कमसे कम मनमोहन से मोदी तो अच्छे है ही !!!
ध्यान रहे , राष्ट्रहित सर्वोपरि होता है !!

ज्यादा जानकारी के लीए क्लीक करे।

Posted from WordPress by Atul Lathiya via Note 3 neo

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s